सूरत की 42 वर्षीय बाइकर दुरैया तपिया 26 से देशव्यापी ट्रक राइड पर

• नवसारी के सांसद और भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष सीआर पाटिल 26 जनवरी को हरी झंडी दिखाएंगे।
• 35 दिनों की राइड के दौरान दुरैया 13 राज्यों के 4,500 गाँव और 10,000 किलोमीटर की यात्रा करेगी
• राइड का मुख्य उद्देश्य स्वच्छ भारत, सशक्त महिला, सशक्त भारत और आत्मनिर्भर भारत मिशन के संदेश को जन-जन तक पहुंचाना है
• राइड दौरान गांवों के लोगों को मास्क, सेनेटाइजर, डस्टबीन का वितरण करके कोरोना महामारी के प्रति जागृति लाने का प्रयास करेंगी

सूरत। बाइकर्स के रूप में प्रसिद्ध सूरत की 42 वर्षीय दुरैया तपिया एक और साहसिक कार्य पर जा रहे हैं। वह 26 जनवरी से एक राष्ट्रव्यापी ट्रक की सवारी करने के लिए जा रही है। प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी के स्वच्छ भारत अभियान, सशक्त नारी, सशक्त भारत और आत्मानिर्भर भारत मिशन के साथ दुरैया ने कोविड-19 से सुरक्षित रहने का संदेश फैलाने के लिए इस राष्ट्रव्यापी सवारी का आयोजन किया है।

नवसारी के सांसद और भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष सीआर पाटिल 26 जनवरी को हरी झंडी दिखाएंगे और राइड शुरू होगी। राइड के दौरान दुरैया तपिया खुद लगातार 35 दिनों तक ट्रक चलाएंगी। इस बीच वें 13 राज्यों में 4,500 गांवों को कवर करेंगे और 10,000 किमी से अधिक का सफर करेगी। दुरैया तपिया ने कहा कि सवारी का उद्देश्य प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के स्वच्छ भारत अभियान, सशक्त नारी, सशक्त भारत और आत्मनिर्भर अभियान को जन-जन तक पहुंचना है। वहीं गांवों के लोगों को कोविड-19 महामारी के बारे में जागरूक करना है।

वे हर गाँव में जाकर लोगों को मुफ्त मास्क, सैनिटाइजऱ, पैड और डस्टबिन वितरित करने के साथ-साथ कोरोना से बचने के बारे में जागरूकता पैदा करने की कोशिश करेंगे। 13 राज्यों की यात्रा के दौरान दुरैया उन राज्यों के प्रतिनिधियों और मंत्रियों और नेताओं से भी मुलाकात करेंगी। जगह-जगहों पर दुरैया का स्वागत भी किया जाएगा। राइड का अंतिम गंतव्य केवडिया स्टैच्यू ऑफ यूनिटी होगा और फिर राइड सूरत में समाप्त होगी।

तीन महीने तक प्रशिक्षण लेकर लाइसेंस प्राप्त किया, मुख्यमंत्री ने शुभकामना दी

35 दिनों के लिए 13 राज्यों में अकेले ट्रक चलाने के लिए पेशेवर ड्राइवर की तरह प्रशिक्षण लेकर दुरैया तपियाने हेवी लाइसेंस प्राप्त किया है। दुरैया तपिया ने कहा कि ट्रक चलाना आमतौर पर आदमी का काम है, लेकिन मेरे लिए यह जरूर कठिन था लेकिन असंभव नहीं। यही कारण है कि तीन महीने तक ट्रक चलाना सीखने के बाद मैंने आरटीओ में हेवी लाइसेंस के लिए प्रक्रिया की और हेवी लाइसेंस प्राप्त किया और अब मैं राइड के लिए तैयार हूं। हालांकि एक महिला के लिए हाइवे पर ट्रक चलाना और हजारों किलोमीटर की यात्रा करना गर्व की बात है, मुख्यमंत्री विजय रूपानी और उपमुख्यमंत्री नितिनभाई पटेल और गणपतभाई वसावाने भी दुरैया तपिया को शुभकामनाएं दी हैं।

उल्लेखनीय है कि दुरैया तपिया एक साहसी महिला हैं। उन्होंने बाइकर के रूप में अपनी पहचान स्थापित की है। वह अपने भारत दौरे के साथ पहले ही सिंगापुर के लिए बाइक की सवारी कर चुकी हैं।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

22,027FansLike
3,511FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Latest Articles