जूनागढ़ शहर के लिए 319.48 करोड़ की भूमिगत सीवर योजना तथा सासण में पर्यटन सुविधा के 32 करोड़ के विकास कार्यों का सीएम ने किया ई-शिलान्यास

हेरिटेज शहर के रूप में विकसित किया जाएगा जूनागढ़ः मुख्यमंत्री
‘ऐतिहासिक शहर जूनागढ़ की भव्यता को करेंगे पुनर्स्थापित’
• जूनागढ़ में 120 करोड़ के खर्च से बनेंगे ओवरब्रिज
• सिंह दर्शन के लिए इंद्रेश्वर लायन सफारी पार्क होगा शुरू

मुख्यमंत्री श्री विजय रूपाणी ने कहा कि जूनागढ़ भी अब आधुनिक शहरों में अपना स्थान बनाएगा। जूनागढ़ को हेरिटेज सिटी के रूप में विकसित किया जाएगा। जूनागढ़ स्थित नरसिंह मेहता तालाब, महाबत मकबरा और ऊपरकोट स्थित सभी स्थलों के कायापलट का बीड़ा उठाकर पर्यटन हब के रूप में शहर का विकास किया जाएगा।

बुधवार को जूनागढ़ स्थित पुलिस परेड ग्राउंड में जूनागढ़ शहर के लिए 319.48 करोड़ रुपए की भूमिगत सीवर योजना तथा सासण गिर देवलिया में 32 करोड़ रुपए की लागत से पर्यटक सुविधा के विकास कार्यों का ई-शिलान्यास करते हुए उन्होंने यह बात कही।

गिरनार पर्वत पर स्थापित रोप-वे में पिछले ढाई महीने के दौरान ढाई लाख से अधिक पर्यटकों और तीर्थ यात्रियों के मां अंबाजी के दर्शनों का लाभ उठाने का उल्लेख करते हुए उन्होंने कहा कि ऐतिहासिक शहर जूनागढ़ की भव्यता को पुनर्स्थापित किया जाएगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना काल के बीच पिछले महीनों के दौरान राज्य में 27 हजार करोड़ रुपए के विकास कार्यों की शुरुआत हुई है। गुजरात के शहर अब दुनिया के आधुनिक शहरों की बराबरी करेंगे। उन्होंने कहा कि कोरोना के चलते दुनिया की रफ्तार पर ब्रेक लगा है, लेकिन गुजरात में भारत का सबसे ऊंचा गिरनार रोप-वे, देश का सबसे बड़ा बाल हृदय रोग हॉस्पिटल और दुनिया का सबसे बड़ा हाइब्रिड रिन्यूएबल एनर्जी पार्क जैसे बड़े प्रोजेक्ट प्रधानमंत्री के कर कमलों से शुरू हुए हैं।

जूनागढ़ में ओवरब्रिज के लिए पहले 32 करोड़ रुपए स्वीकृत किए गए थे और आज अतिरिक्त 88 करोड़ रुपए देने की घोषणा मुख्यमंत्री ने की। इस राशि से बस स्टेशन और जोषीपुरा को कवर करने वाले दो आधुनिक ओवरब्रिज का निर्माण किया जाएगा, जिससे जूनागढ़ के बाशिंदों को यातायात की समस्या से निजात मिलेगी। इसके अलावा जूनागढ़ को फाटक मुक्त बनाने का भी आयोजन किया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि गुजरात ने पेयजल की किल्लत को अतीत की बात बना दिया है। हमारी सरकार ने इस बात की चिंता की है कि पानी के अभाव में लोगों का पलायन न हो। इस मौके पर उन्होंने कृषि कार्यों के लिए दिन में बिजली प्रदान करने वाली किसान सूर्योदय योजना का भी जिक्र किया।
मुख्यमंत्री ने गिरनार की गोद में स्थित जूनागढ़ में इंद्रेश्वर लायन सफारी पार्क शुरू करने की घोषणा की। उन्होंने कहा कि इसके लिए वन विभाग को निर्देश दे दिए गए हैं। जूनागढ़ के टूरिस्ट हब बनने से आर्थिक विकास को गति मिलेगी। सड़क और स्वच्छता की सुंदर व्यवस्था से देश और दुनिया के सैलानी प्रभावित होंगे और जूनागढ़ की उनकी यात्रा अविस्मरणीय बनेगी।

उन्होंने वर्ष 2022 के अंत तक राज्य के सौ फीसदी घरों में नल के जरिए पानी पहुंचाने और जमीन पर बेजा कब्जा करने वालों तथा गुंडागर्दी करने वालों को सबक सिखाने के लिए राज्य सरकार की ओर से हाल ही में लागू किए गए गुंडा एक्ट तथा लैंड ग्रेबिंग एक्ट के बारे में जानकारी दी।
पर्यटन मंत्री श्री जवाहरभाई चावड़ा ने कहा कि पर्यटन केंद्र जूनागढ़ में बहाउद्दीन कॉलेज, नरसिंह मेहता का चबूतरा और सर्किट हाउस के पास स्थित पानी की ऊंची टंकी को थ्री-डायमेंशन लाइट से रोशन किया जाएगा। उन्होंने कहा कि सासण में होने वाले 32 करोड़ रुपए के विकास कार्यों से सासण की कायापलट होगी।

श्री चावड़ा ने कहा कि जूनागढ़ और सासण का पर्यटन के नजरिए से दुनिया में विशिष्ट स्थान है और उनके विकास के लिए मुख्यमंत्री विशेष रुचि ले रहे हैं।

जूनागढ़ के महापौर श्री धीरुभाई गोहेल ने स्वागत भाषण में जूनागढ़ शहर की विकास यात्रा की जानकारी दी जबकि मनपा आयुक्त तुषार सुमेरा ने आभार व्यक्त किया।

कार्यक्रम में खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति मंत्री श्री जयेशभाई रादड़िया, सांसद श्री राजेशभाई चूड़ास्मा, विधायक श्री भीखाभाई जोषी, उप महापौर श्री हिमांशु पंड्या, मनपा स्थायी समिति के अध्यक्ष श्री राकेश धुलेशिया, शहर भाजपा अध्यक्ष श्री पुनित शर्मा, कलक्टर डॉ. सौरभ पारघी, जलापूर्ति बोर्ड के मुख्य अभियंता, कई अग्रणी, अधिकारी और पदाधिकारियों सहित नागरिक उपस्थित थे।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

22,027FansLike
3,429FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Latest Articles