भारतीय रेलवे ने टिकटों की ऑनलाइन बुकिंग के लिए उन्नत ई-टिकटिंग वेबसाइट और मोबाइल ऐप लॉन्च किया

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के ‘डिजिटल इंडिया’ विजन के अनुरूप भारतीय रेलवे ने ऑनलाइन बुकिंग के लिए इस्ते्माल की जाने वाली अपनी ई-टिकटिंग वेबसाइट www.irctc.co.in और आईआरसीटीसी रेल कनेक्ट मोबाइल ऐप का नवीनीकरण और उन्नयन किया है,।

“सर्वश्रेष्ठ” सुविधाओं की पेशकश करने वाली इस उन्न त ई-टिकटिंग वेबसाइट और ऐप का रेल मंत्री श्री पीयूष गोयल ने आज 31 दिसंबर, 2020 को शुभारंभ किया। यह रेलवे द्वारा सभी यात्रियों को नए साल का तोहफा है।
श्री गोयल ने इस अवसर पर कहा “रेलवे राष्ट्र की सेवा के लिए प्रतिबद्ध है, और रेल यात्रा के अनुभव को और बेहतर बनाने के लिए अपनी सेवाओं को बढ़ाने के लिए लगातार काम कर रहा है। ऑनलाइन रेलवे टिकटों की बुकिंग के लिए यह अपग्रेडेड ई-टिकटिंग प्लेटफॉर्म, यात्री सुविधाओं को बढ़ाएगा। “उन्होंने कहा कि आईआरसीटीसी को निरंतर वेबसाइट में सुधार करने के लिए काम करना जारी रखना चाहिए और यह सुनिश्चित करना चाहिए कि यह वेबसाइट डिजिटल इंडिया मिशन और प्रधानमंत्री के विजन के अनुसार दुनिया में सबसे अव्विल हो।

रेल टिकटों की बुकिंग के लिए ई-टिकटिंग की सुविधा:

अगली पीढ़ी की यह उन्नकतम ई-टिकटिंग प्रणाली 2014 में शुरू की गई थी। इसका मकसद आईआरसीटीसी के माध्याम से टिकट बुकिंग सेवा को बाधा रहित और आसान बनाना है। इस वेबसाइट और ऐप को उन्नित बनाकर रेल यात्रियों को और अधिक सुविधाएं उपलब्धब कराना है।

वेबसाइट और ऐप का उन्नहयन उपभोक्ताओं के अनुभवों को ध्यालन में रखते हुए किया गया है:
रेल टिकट की बुकिंग के लिए इस नई विश्वस्तरीय वेबसाइट के डिजाइन को रेलवे के ग्राहकों को ध्याुन में रखते हुए तैयार किया गया है। इसमें उपयोगकर्ता के लॉगिन के साथ भोजन, टिकट बुकिंग, रिटायरिंग रूम और होटल बुकिंग की सुविधा को पहली बार एकीकृत किया गया है।

उन्नृत वेबसाइट की मुख्यि विशेषताएं :
इसमें उपयोगकर्ता के लॉगिन के साथ सभी उपलब्धि सुविधाओं को एकीकृत किया जाना जैसे-
• भोजन, रिटायरिंग रूम और होटल बुकिंग की सुविधा को टिकट बुकिंग के साथ एकीकृत किया गया है।
• इस तरह से यात्रियों को एक ही स्थाहन पर यात्रा से संबधित सभी सुविधाएं उपलब्ध कराने का प्रयास किया गया है।
• आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के माध्यथम से यात्रियों को स्टे शन में प्रवेश करने के साथ सभी तरह की सूचनाएं दिए जाने की व्येवस्थाट की जाएगी। इससे उन्हें यात्रा के पहले की परेशानियों से बचने तथा टिकट बुक करने में मदद मिलेगी।
• वेबसाइट और ऐप के जरिए यात्रियों को टिकट रिफंड की सारी जानकारी भी उनके लॉगिन खाते में एक जगह मिल सकेगी। इससे पहले यह सुविधा नहीं थी।
• नियमित और मनपसंद यात्रा के लिए सभी आवश्य क जानकारियां देकर टिकट बुक की जा सकती है।
• रेलगाड़ियों की जानकारी और चयन की प्रक्रिया को सरल और सुगम बनाया गया है।
• रेलगाड़ियां और उनमें उपलब्धय श्रेणियों के किराए को एक ही पेज पर दिया गया है। पेज स्क्रॉकल करके मनपसंद रेलगाड़ी और श्रेणी की टिकट बुक की जा सकती है। इससे पहले यह सुविधा नहीं थी और हर रेलगाड़ी के लिए अलग से उसकी जानकारी लेनी पड़ती थी।
• वेबसाइट के साथ एक ‘कैशे प्रणाली’ की शुरुआत की गई है जिसके माध्य म से वेट लिस्टर टिकटों के कन्फडर्म होने की जानकारी मिलेगी।
• इससे वेटलिस्टथ टिकटों के कन्फर्म हो जाने की जानकारी उपलब्धग कराने में देरी नहीं होगी। इससे पहले यह सुविधा नहीं थी।
• वेबपेज पर आरक्षित टिकटों की अन्यक दिनों में उपलब्ध ता की जानकारी स्वंतः आ जाएगी।
• कंम्यू टर के बारे में कम जानकारी रखने वालों को भी बुकिंग प्रक्रिया आसानी से समझ में आ सकेगी जिससे उन्हेंह आवश्यंक जानकारियां हासिल करने के लिए वेबसाइट पर इधर-उधर भटकने में समय बर्बाद नहीं करना पड़ेगा।
• बुक की गई यात्रा का विवरण भुगतान वाले पेज पर स्वपतः दिखेगा ताकि उपयोगकर्ता इसमें किसी तरह की गलती को तुरंत ठीक कर सके। पीआरएस केन्द्र जाकर भी बुकिंग में हुई गलती ठीक कराई जा सकती है।
• वेबसाइट में साइबर सुरक्षा के लिए भी पर्याप्तब व्यईवस्थाा की गई है।

उच्चव स्तार की विशेषताएं :
उन्नत ई-टिकटिंग वेबसाइट और मोबाइल ऐप का उद्देश्य अन्य ऑनलाइन यात्रा और टिकटिंग वेबसाइटों के बीच उपयोगकर्ताओं को बेहतरीन अनुभव प्रदान करना है।
इन सुविधाओं का स्तर अन्य टिकटिंग वेबसाइटों द्वारा वर्तमान में दी जा रही सुविधाओं की तुलना में अधिक उन्नत होगा। अधिकांश वेबसाइटों में, स्टेशनों की जानाकारी अभी भी वर्णमाला के क्रम में है और टिकटों की उपलब्धगता की स्थिति या तो है ही नहीं या काफी पुरानी है। इसके अलावा, इस उन्नत ई-टिकटिंग वेबसाइट में ठहरने और भोजन आदि की बुकिंग की सुविधा को टिकट बुकिंग के साथ एकीकृत किया जाना अपने आप में बेजोड़ है।
वर्तमान में आईआरसीटीसी की इस ई-टिकटिंग वेबसाइट के 6 करोड़ से ज्याहदा उपयोगकर्ता हैं। वेबसाइट के जरिए प्रतिदिन 8 लाख से अधिक टिकट बुक किए जाते हैं। बुक किए जाने वाले कुल आरक्षित रेल टिकटों का 83 प्रतिशत इस वेबसाइट के जरिए बुक किया जा रहा है।

आगे का रास्ताह :
आईआरसीटीसी और सीआरआईएस (क्रिस) उन जोड़ीदार स्टेशनों के लिए वैकल्पिक मार्गों पर ट्रेनों को जोड़ने के लिए स्मार्ट बुकिंग ’सुविधा शुरू करने के लिए काम कर रहा है जिनमें सीधी ट्रेन सेवा नहीं हैं।
रेलवे अपनी ई-टिकटिंग सेवाओं में निरंतर सुधार लाने के लिए प्रतिबद्ध है।
उन्नेत वेबसाइट और नए ऐप को जारी करते हुए रेल मंत्री श्री पीयूष गोयल ने कोरोना से उत्पगन्नन चुनौतियों से निपटने और रेलवे को भविष्यी के लिए तैयार करने में रेल परिवार के योगदान की सराहना की। उन्होंरने कहा कि आईआरसीटीसी इस दिशा में प्रयासरत है।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

22,027FansLike
3,443FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Latest Articles